Text selection Lock by Hindi Blog Tips

जिन्हें हम 'इन्तेज़ार' और आप 'वक़्त' कहते हैं

जिन्हें हम 'इन्तेज़ार' और आप 'वक़्त' कहते हैं
हम एक रिश्ता और आप एक लफ्ज़ कहते हैं,

रविवार, 4 अक्तूबर 2009

अद्भुत है आपका ये प्रयास. इतने सारे स्केचेज और तस्वीरें क्या आपकी खुद की बनायीं हुई हैं...? अगर हैं तो कबीले तारीफ़ हैं. हमारे यहाँ भी पधारिये.
-भारती-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

comments